एसिडिटी से कैसे पाए निजात

जिस व्यक्ति का पेट स्वस्थ हो और बिना किसी परेशानी के काम करता है तो उससे ज्यादा स्वस्थ शायद कोई और है ही नहीं लेकिन जिस तरह से हमारी जिन्दगी भागदौड़ भरी हो चूँकि है ऐसे में पेट का स्वस्थ रहना लगभग नामुमकिन- सा हो चुका है।

पेट से जुड़ी समस्याएं:

  • एसिडिटी
  • कब्ज
  • अपच
  • बदहजमी
  • खट्टी डकार
  • पेट और सीने में दर्द
  • पेट और सीने में बहुत ज्यादा जलन
  • जी-मिचलाना और उल्टियां होना।
  • पेट ख़राब होना(दस्त लगना)।

पेट से जुड़ी परेशानी का कारण:

  • बहुत ज्यादा तला-भुना खाने से।
  • कोल्ड ड्रिंक्स के अधिक सेवन से।
  • पेट के कीड़ो की वजह से।
  • लीवर के कमजोर होने से।
  • बहुत अधिक तक मल-मूत्र का त्याग न करने से।
  • पेट या किडनी में स्टोन होने की वजह से।
  • किसी तरह के पेट, किडनी और लीवर में इन्फेक्शन की वजह से,
  • आंतो में सूजन के कारण।

पेट को मजबूत बनाने के घरेलु उपाय:

आवश्यक सामग्रीः       

तुलसी के पत्ते : 7 से 8

शहद : हाफ tea स्पून

अदरक का रस : हाफ tea स्पून

कैसे करे इस्तेमाल:

जब भी पेट दर्द या बदहजमी जैसी कोई समस्या हो तो उसके लिए तुलसी के पत्ते बहुत ही असरदार होते है।

इसके लिए आप एक कप पानी में 7 से 8 तुलसी के पत्ते और हाफ tea स्पून अदरक का रस डाल कर इसे करीब 5 मिनट तक उबाले।

(अदरक के रस की जगह आप केवल अदरक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं)

इसके बाद पानी को छान कर दुसरे बर्तन में रख ले और इसे ठंडा होने दे। जब पानी हल्का गुनगुना रह जाए तब इसमें आधा चम्मच शहद मिक्स कर दे और फिर इसका सेवन करे।

ध्यान रखे: शहद को कभी भी गर्म पानी में नहीं डालना चाहिए इसे हमेशा गुनगुने या ठन्डे पानी में ही मिलाना चाहिए। 

इससे सेवन से आपकी बदहजमी, गैस और एसिडिटी बहुत जल्दी ठीक हो जाएगी।

इसके अलावा अगर आप चाहे तो रोजाना सुबह खाली पेट इसका सेवन कर सकते है इससे जिन लोगों को हमेशा पेट की परेशानियों का सामना करना पड़ता है उन लोगों के लिए ये बहुत ही फायदेमंद होता है।

इसके सेवन से पेट साफ़ होता है, पाचन शक्ति बढती है, पेट में किसी तरह का इन्फेक्शन होता है तो वो भी ठीक हो जाता है।

पेट के लिए है जरुरी सावधानियां:                   

  • बॉडी में सबसे ज्यादा पेट सेंसिटिव होता है तो पेट की देखभाल करना बहुत जरुरी है।
  • वक्त पर खाना और वक्त पर सोना बहुत ही जरुरी है। खाने-पीने का एक रूटीन बना ले।
  • पूरी नींद लेने से खाना आसानी से पच जाता है लेकिन वही अगर नींद पूरी नहीं होती तो एसिडिटी होना बहुत ही आम बात है।
  • पानी पेट के साथ-साथ पूरी बॉडी के लिए जरुरी है तो रोजाना 7 से 8 लीटर पानी जरुर पिए।
  • स्वाद के चक्कर में बहुत अधिक तला-भुना न खाए। फ़ास्ट फ़ूड, जंक फ़ूड और स्ट्रीट फ़ूड को अवॉयड करे।
  • रोजाना रात को खाना खाने के तुरंत बाद बेड न जाए। खाने के करीब आधे घंटे बाद ही सोने जाए।
  • बहुत अधिक समय तक मल-मूत्र को रोक न रखे।
  • अगर इन सब घरेलु उपचार के बाद भी आपका पेट दर्द ठीक नहीं होता है तो आपको डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please wait...

Subscribe to our newsletter

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.