Ayurveda

रेगुलर कास्मेटिक्स के इस्तेमाल और प्रदूषण से त्वचा का निखार गायब हो जाता है। समाधान आपकी रसोई में ही उपस्थित

हम सब अपनी त्वचा की देखभाल के लिए पता नहीं क्या क्या नहीं करते… सर्जरी, कई तरह की क्रीम्स और

आयुर्वेद ग्रंथो के अनुसार इंसान में होने वाले सभी रोगों का सबसे बढ़ा कारण वात, पित्त और कफ होता है

आयुर्वेद में हमारी आयु को 4 अलग-अलग चरण में बांटा गया है: सुखायु: जिस व्यक्ति में कोई रोग कोई दोष

आयुर्वेद दो शब्दों से मिलकर बना है आयुष और वेद। विश्व की सबसे पुराणी चिकित्सा प्रणाली आयुर्वेद ही है। इसका

रक्तवाहिनियों में सिकुड़न (contraction in blood vessel) – सर्दियों के मौसम में रक्तवाहिकाएं (blood vessel) शरीर की गर्मी को संरक्षित

Ushnodaka therapy is a very famous treatment that is followed in Ayurveda and it is effective too. In this method,

Please wait...

Subscribe to our newsletter

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.