हृदय रोग से बचने के उपाय

इस भाग दौड़ वाली जिंदगी में गलत लाइफस्टाइल और खानपान की वजह से बहुत सारी तरह की बीमारियाँ बढ़ रही हैं। कुछ बीमारियां तो डॉक्टरी इलाज करने से थोड़े समय में ठीक हो जाती हैं।पर बहुत सारी ऐसी है जो जानलेवा और काफी खतरनाक भी है और कुछ तो ज़िंदगी भर साथ रहती है। इनमें से कुछ तो जानलेवा भी हो जाती हैं। कैंसर, हाई ब्लड प्रेशर और दिल की बीमारी कुछ ऐसे ही रोग हैं। अक्सर खानपान और अस्त-व्यस्त लाइफस्टाइल की वजह से आज हृदय रोग(Heart Disease) आम बात लगने लगी हैं।

दिल की बीमारी कई तरह की होती है। इसके लक्षण : दिल की बीमारी में निम्नांकित प्रमुख लक्षण देखने को मिलते हैं / (Heart Disease Symptoms & Signs of Heart Problems)

  • चेस्ट पेन- छाती में बाई और भयंकर दर्द होना, तड़पना और दर्द बांह तक जाना। यह पूर्ण हृदरोध के लक्षण हैं |
  • डिसनिया- श्वास लेने में तकलीफ होना, जरा से परिश्रम से सांस फूलना।
  • पेलपिटेशन- दिल की धड़कनें तेज और बढ़ी हुई होना। यह ह्रदय धमनी रोग के लक्षण हो सकते है |
  • परसिस्टेंट हेडेक- सिर में लगतार दर्द का बना रहना।
  • जाने क्या है बाईपास सर्जरी-Open Heart & Bypass Surgery
  • आथोंपेनिया- लेटने की स्थिति में सांस लेने में कष्ट होना।
  • सिनकोप- मूर्छित यानी बेहोश होना।
  • एंकल्स स्वेलिंग- टखनों पर सूजन आना। पैरों पर भी सूजन होना।
  • स्वेटिंग-इतना अधिक पसीना आना कि शरीर भीग जाए।
  • फेटिंग- बिना किसी खास कारण के थकान महसूस होना।
  • वर्टिगो- चक्कर आना |
  • सीइंग डबल- एक के दो दिखना खतरनाक लक्षण होता है।
  • इन डाइजेशन- अपच से खट्टी या सामान्य डकारें आना ।
  • कार्डियक अरेस्ट- अचानक हृदय की धड़कनें पूरी तरह से बंद होकर मृत्यु होना।

हृदय रोग से बचने के उपाय 2

दिल की बीमारी से छुटकारा पाने के नुस्खे (Tips for Getting Rid of Heart Disease)

    • दिल को स्वस्थ रखने के लिए फल और हरी सब्ज़ियों का सेवन करें। इनमें कैलोरी कम होती है लेकिन विटामिन, मिनिरल्स और फाइबर प्रचुर मात्रा में होते हैं।
    • कम चर्बी वाले आहार का सेवन करें। इसलिए आप मांसाहारी खाना और जंक फूड न खाएं।
    • साबुत अनाज खाने से दिल स्वस्थ रहता है। दलिया साबुत अनाज का बढ़िया उदाहरण है। इसे खाने से खून में कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रहता है। दलिया खाने के फायदे भी जान लीजिए।
                                  (यहाँ पढ़े: डायबिटीज/मधुमेह से बचने के घरेलु नुस्खे)
  • खाना बनाने के लिए सरसों का तेल या फिर जैतून के तेल प्रयोग करें। इससे दिल की बीमारी 70% तक कम होती है।
  • हर दिन 50 ग्राम ग्वारपाठा खाली पेट खाएं तो कोलेस्ट्रॉल कम रहता है। दिल बीमारियों से बचा रहता है।
  • हार्ट ब्लॉकेज खोलने के लिए लौकी का सेवन करें। लौकी उबालकर उसमें धनिया, जीरा और हल्दी मिलाकर पकाएं। इस सब्ज़ी को हफ्ते में 3 बार तक खाने से फायदा होता है।
  • बादाम में विटामिन और हाइ फाइबर होता है। जो दिल की बीमारी नहीं होने देता है। जानिए किन 6 चीज़ों में हाइ फाइबर होता है।
  • अर्जुन छाल और प्याज को समान मात्रा में पीस लीजिए। रोज़ आधा चम्मच दूध के साथ इसका सेवन करने से दिल की बीमारी खत्म होती है।
  • गाजर के जूस में शहद मिलाकर पीने से हृदय रोग ठीक होते हैं।
  • कच्चा लहसुन रोज़ सुबह खाने से रक्त संचार ठीक रहता है। जिससे दिल स्वस्थ रहता है। इससे कोलेस्ट्रोल भी नहीं बढ़ता है। जिससे दिल का दौरा पड़ने की संभावना कम हो जाती है।
  • दूध में आंवला चूर्ण मिलाकर पीने से दिल की बीमारी नहीं होती है।
  • रातभर भीगी उड़द दाल को पीसकर पेस्ट बनाएं। इसे दूध और मिसरी के साथ खाने से हार्ट अटैक आने की संभावना नहीं रहती है।
  • देशी गाय के घी में गुड़ मिलाकर पीने से दिल की कमज़ोरी दूर हो जाती है।
  • वही अगर अनार के जूस में मिसरी मिलाकर हर रोज़ सुबह शाम पीने से दिल मजबूत होता और हार्ट अटैक का डर नहीं रहता है।
  • दिल के लिए सेब का जूस और आंवले का मुरब्बा खाने से दिल स्वस्थ रहता है। ये दिल के लिए काफी फायदेमंद है।

सावधानियाँ (Caution)

  • सही खानपान की आदतें बनाएं। इससे हार्ट ब्लॉकेज नहीं होगा।
  • कम कैलोरी मगर विटामिन, मिनिरल्स और फाइबर से भरपूर खाना खाएं।
  • तैराकी, लम्बी दूरी टहलना, व्यायाम और योग को अपनाएं।
  • फास्ट फूड, तला भुना, ज़्यादा चिकनाई वाला खाना कम से कम खाएं।
  • धूम्रपान और शराब से परहेज करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please wait...

Subscribe to our newsletter

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.